Sad Dard Bhari Bewafa Shayari and WhatsApp Status In Hindi

Looking for sad love bewafa shayari and Bewafa WhatsApp Status in Hindi for girlfriend or boyfriend? If your answer is yes, then you’re at the right place.

Dard Bhari Shayari And Bewafa Shayari In Hindi

sad dard bhari bewafa shayari

We have a unique and the latest collections of Shayari and WhatsApp Status in Hindi so, that you can send to your girlfriend or boyfriend who betrayal you in love.

Bewafa Shayari In Hindi

लिख-लिख कर मिटा दिए
तेरी बेवफाई के गीत,
किया करती थी
तू भी वफ़ा एक ज़माने में।

Likh-likh Kar Mita Diye
Teree Bewafai Ke Geet,
Kiya Karati Thi
Tu Bhi Vafa Ek Zamaane Mein!

मेरे कलम से लफ्ज़ खो गए सायद
आज वो भी बेवफा हो गाए सायद
जब नींद खुली तो पलकों में पानी था
मेरे ख्वाब मुझपे रो गाए सायद

Mere Kalam Se Laphz Kho Gaye Saayad
Aaj Vo Bhee Bevapha Ho Gaye Saayad
Jab Nind Khulee To Palakon Mein Pani Tha
Mere Khwab Mujhape Ro Gaye Saayad

आज कतरा के गुजरते हुए पाया है तझे,
बेवफाई का हुनर किसने सिखाया है तुझे।

Aaj Katara Ke Gujarate Hue Paaya Hai Tujhe,
Bewafai Ka Hunar Kisane Sikhaaya Hai Tujhe.

हमारे हर सवाल का सिर्फ एक ही जवाब आया,
पैगाम जो पहूँचा हम तक बेवफा इल्जाम आया।

Hamaare Har Savaal Ka Sirph Ek Hee Jawaab Aaya,
Paigaam Jo Pahooncha Ham Tak Bewafa Iljaam Aaya.

मझे तू अपना बना या न बना तेरी खुशी,
तू ज़माने में मेरे नाम से बदनाम तो है।

Mujhe Too Apana Bana Ya Na Bana Teri Khushi,
Tu Zamaane Mein Mere Naam Se Badanaam To Hai.

कितना और दर्द देगा बस इतना बता दे,
ऐसा कर ऐ खुदा मेरी हस्ती मिटा दे,
यूं घुट घुट के जीने से तो मौत बेहतर है,
मैं कभी न जागूं मुझे ऐसी नींद सुला दे।

Kitana Aur Dard Dega Bas Itana Bata De,
Aisa Kar Ai Khuda Meree Hastee Mita De,
Yun Ghut Ghut Ke Jeene Se To Maut Behatar Hai,
Main Kabhee Na Jaagoon Mujhe Aisee Neend Sula De.

तुम समझ लेना बेवफा मुझको, मै तुम्हे मगरूर मान लूँगा
ये वजह अच्छी होगी , एक दूसरे को भूल जाने के लिये!

Tum Samajh Lena Bewafa Mujhako, Mai Tumhe Magaroor Maan Loonga
Ye Wajah Achchi Hogi , Ek Dusare Ko Bhul Jaane Ke Liye!

दिल के सारे अरमान ले जाते हैं,
हमसे हमारी पहचान ले जाते हैं,
ना करना किसी से मोहब्बत दोस्त,
जान कहने वाले जान ले जाते हैं।

Dil Ke Saare Aramaan Le Jaate Hain,
Hamase Hamaaree Pahachaan Le Jaate Hain,
Na Karana Kisee Se Mohabbat Dost,
Jaan Kahane Vaale Jaan Le Jaate Hain.

वो जमाने में यूँ ही बेवफ़ा मशहूर हो गये दोस्त,
हजारों चाहने वाले थे किस-किस से वफ़ा करते।

Woh Jamane Mein Yoon Hee Bewafa Mashahoor Ho Gaye Dost,
Hajaaron Chahane Wale The Kis-kis Se Wafa Karate.

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी

Kabhi Gam To Kabhi Tanhai Maar Gayi,
Kabhi Yaad Aa Kar Unaki Judai Maar Gayi,
Bahut Toot Kar Chaaha Jisako Hamane,
Aakhir Mein Unakee Hee Bevaphaee Maar Gayi.

बहुत ईमानदार हो गया है ये बेईमान शहर,
दर्द की थैली से किसी ने सिक्का न उठाया।

Bahut Imandar Ho Gaya Hai Ye Baemaan Shahar,
Dard Ki Thaili Se Kisi Ne Sikka Na Uthaaya.

तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
बेवफा मैंने तुझ को भुलाया नहीं अभी।

Tera Khyaal Dil Se Mitaaya Nahin Abhi,
Bewafa Mainne Tujh Ko Bhulaaya Nahin Abhi.

मैंने भी किसी से प्यार किया था
उनकी रहो में इंतजार किया था
हमें क्या पता वो भूल ज्यांगे हमें
कसूर उनका नहीं मेरा ही था
जो एक बेवफा से प्यार किया था !!

Mene Bhi Kisi Se Pyaar Kiya Tha
Unaki Raho Mein Intajaar Kiya Tha
Hamein Kya Pata Vo Bhul Jyaange Hamein
Kasur Unaka Nahin Mera Hi Tha
Jo Ek Bewafa Se Pyaar Kiya Tha!!

जख्म जब मेरे सीने के भर जाएंगे,
आँसू भी मोती बन के बिखर जाएंगे,
ये मत पूछना किसने दर्द दिया,
वरना कुछ अपनों के चेहरे उतर जाएंगे।

Jakhm Jab Mere Sine Ke Bhar Jaenge,
Aansoo Bhi Moti Ban Ke Bikhar Jaenge,
Ye Mat Puchhana Kisane Dard Diya,
Warana Kuchh Apanon Ke Chehare Utar Jayenge.

बेवफाई उसकी दिल से मिटा के आया हूँ,
ख़त भी उसके पानी में बहा के आया हूँ,
कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को,
इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ।

Bewafai Usaki Dil Se Mita Ke Aaya Hoon,
Khat Bhi Usake Paani Mein Baha Ke Aaya Hoon,
Koi Padh Na Le Us Bewafa Ki Yaadon Ko,
Isliye Pani Mein Bhee Aag Laga Kar Aaya Hoon.

चलो छोड़ो ये बहस कि वफ़ा किसने की
और बेवफा कौन है
तुम तो ये बताओ कि आज ‘तन्हा’ कौन है!!

Chalo Chhodo Ye Bahas Ki Wafa Kisane Ki
Aur Bewafa Kaun Hai
Tum To Ye Batao Ki Aaj Tanha Kaun Hai!!

कागज की कश्ती से पार जाने की ना सोच,
उड़ते हुए तूफानों को हाथ लगाने की ना सोच,
ये मोहब्बत बड़ी बेदर्द है इससे खेल ना कर,
मुनासिब हो जहाँ तक दिल बचाने की सोच।

Kagaj Ki Kashti Se Paar Jaane Ki Na Soch,
Udate Hue Tufano Ko Haath Lagaane Ki Na Soch,
Ye Mohabbat Badi Bedard Hai Isase Khel Na Kar,
Munaasib Ho Jahaan Tak Dil Bachane Ki Soch.

कैसे मिलेंगे हमें चाहने वाले बताइये,
दुनिया खड़ी है राह में दीवार की तरह,
वो बेवफ़ाई करके भी शर्मिंदा ना हुए,
सजाएं मिली हमें गुनहगार की तरह।

Kaise Milenge Hamein Chahane Wale Bataiye,
Duniya Khadi Hai Raah Mein Divaar Ki Tarah,
Vo BeWafai Karake Bhi Sharminda Na Hue,
Sajaen Mili Hamen Gunahagaar Ki Tarah.

ये बेवफा, वफा की कीमत क्या जाने !
ये बेवफा गम-ए-मोहब्बत क्या जाने !
जिन्हे मिलता है हर मोड पर नया हमसफर !
वो भला प्यार की कीमत क्या जाने !!

Yeh Bewafa, Wafa Ki Kimat Kya Jaane !
Ye Bewafa Gam-E-Mohabbat Kya Jaane !
Jinhe Milata Hai Har Mod Par Naya Humsafar!
Vo Bhala Pyaar Kee Keemat Kya Jaane !!

तस्वीर में भी बदले हुए हैं उनके तेवर,
आँखों में मुरब्बत का कहीं नाम नहीं है।

Tasvir Mein Bhi Badale Hue Hain Unake Tevar,
Aankhon Mein Murabbat Ka Kahin Naam Nahin Hai.

जिंदगी ने मेरे दर्द का क्या खूब इलाज सुझाया,
वक्त को दवा बताया, ख्वाहिशों से परहेज बताया।

Zindagi Ne Mere Dard Ka Kya Khub Ilaaj Sujhaaya,
Waqt Ko Dawa Bataaya, Khwaahishon Se Parahej Bataaya.

समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से
अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर इनकी ज़रूरत पड़ेगी।

Samet Kar Le Jao Apane Jhoothe Wadon Ke Adhure Qisse
Agali Mohabbat Mein Tumhen Phir Inaki Zaroorat Padegi.

अरे बेपनाह मोहब्बत की थी हमने तुझसे ओ बेवफा !
तुझे दुःख दूं ये न होगा कभी खुद मर जाऊं यहीं ठीक है !!

Are Bepanah Mohabbat Ki Thi Hamane Tujhase O Bewafa!
Tujhe Duhkh Doon Ye Na Hoga Kabhi Khud Mar Jaoon Yahen Theek Hai !!

जो जले थे हमारे लिऐ,
बुझ रहे हैं वो सारे दिये,
कुछ अंधेरो ने की थी साजिशें,
कुछ उजालों ने धोखे दिये.

Jo Jale The Hamaare Liye,
Bujh Rahe Hain Woh Saare Diye,
Kuch Andhero Ne Ki Thi Sajishen,
Kuch Ujaalon Ne Dhokhe Diye.

वफ़ा निभा के वो हमे कुछ दे ना सके
पर बहुत कुछ दे गये जब वो बेवफा हुए!

Wafa Nibha Ke Woh Humein Kuch De Na Sake
Par Bahut Kuchh De Gaye Jab Woh Bewafa Hue!

सजा कैसी मिली मुझको तुमसे दिल लगाने की,
रोना ही पड़ा है जब कोशिश की मुस्कुराने की,
कौन बनेगा यहाँ मेरी दर्द-भरी रातों का हमराज,
दर्द ही मिला जो तुमने कोशिश की आजमाने की।

Saja Kaisi Mili Mujhako Tumase Dil Lagane Ki,
Rona Hi Pada Hai Jab Koshish Kee Muskurane Ki,
Kaun Banega Yahaan Meree Dard-bharee Raaton Ka Hamaraj,
Dard Hee Mila Jo Tumane Koshish Kee Aajamane Kee

वो कब का भूल चुका होगा हमारी वफ़ा का किस्सा,
बिछड़ के किसी को किसी का ख्याल कब रहता है।

Woh Kab Ka Bhul Chuka Hoga Hamaari Wafa Ka Kisa,
Bichad Ke Kisi Ko Kisi Ka Khyal Kab Rahata Hai.

इश्क़ ने जब माँगा खुदा से दर्द का हिसाब,
वो बोले हुस्न वाले ऐसे ही बेवफाई किया करते हैं।

Ishq Ne Jab Manga Khuda Se Dard Ka Hisaab,
Woh Bole Husan Wale Aise Hee Bevaphaee Kiya Karate Hain.

बहारों के फूल एक दिन मुरझा जायेंगे,
भूले से कहीं याद तुम्हें हम आ जायेंगे,
अहसास होगा तुमको हमारी मोहब्बत का,
जब कहीं हम तुमसे बहुत दूर चले जायेंगे।

Baharon Ke Phool Ek Din Murajha Jayenge,
Bhule Se Kahin Yaad Tumhein Ham Aa Jayenge,
Ahasaas Hoga Tumako Hamari Mohabbat Ka,
Jab Kahin Hum Tumase Bahut Door Chale Jaayenge.

क्यों जिंदगी इस तरह तुम दूर हो गए
क्या बात है जो इस तरह मगरूर हो गए।
हम तरसते रहे तुम्हारा प्यार पाने को
बेवफा बनकर तुम तो मशहूर हो गए।।

Kyon Zindagi Is Tarah Tum Door Ho Gaye
Kya Baat Hai Jo Is Tarah Magaroor Ho Gaye.
Hum Tarasate Rahe Tumhaara Pyaar Paane Ko
Bewafa Banakar Tum To Mashahoor Ho Gaye..!

Dard Bhari Bewafa Shayari In Hindi WhatsApp Status

जब्त कहता है खामोशी से बसर हो जाये,
दर्द की ज़िद है कि दुनिया को खबर हो जाये।

Jabt Kahata Hai Khamoshi Se Basar Ho Jaye,
Dard Ki Zid Hai Ki Duniya Ko Khabar Ho Jaye.

मेरी तलाश का है जुर्म
या मेरी वफा का क़सूर,
जो दिल के करीब आया
वही बेवफा निकला।

Meri Talaash Ka Hai Jurm
Ya Meri Wafa Ka Qasur,
Jo Dil Ke Karib Aaya
Wahi Bewafa Nikala.

पहले ज़िन्दगी छीन ली मुझसे,
अब मेरी मौत का वो फायदा उठाती है,
मेरी कब्र पे फूल चढाने के बहाने,
वो किसी और से मिलने आती है।

Pahale Zindagi Chin Li Mujhse,
Ab Meri Maut Ka Woh Fyada Uthati Hai,
Meri Kabr Pe Phul Chadhane Ke Bahane,
Woh Kisi Aur Se Milane Aati Hai.

जो दो लफ्जों की हिफाजत न कर पाए,
उनके हाथों में जिंदगी की किताब क्या देता।

Jo Do Lafjo Ki Hifazat Na Kar Paye,
Unake Hathon Mein Zindagi Ki Kitaab Kya Deta.

बेवफायी का मौसम भी
अब यहाँ आने लगा है,
वो फिर से किसी और को
देख कर मुस्कुराने लगा है ।

Bewafai Ka Mausam Bhi
Ab Yahaan Aane Laga Hai,
Woh Phir Se Kisi Aur Ko
Dekh Kar Muskurane Laga Hai.

हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला,
हम को जो भी मिला बेवफा यार मिला ।
अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी,
हर कोई मकसद का तलबगार मिला ।

Hamein Na Mohabbat Mili Na Pyar Mila,
Hum Ko Jo Bhi Mila Bewafa Yaar Mila.
Apani To Ban Gaee Tamaasha Zindagi,
Har Koi Makasad Ka Talabagar Mila!

दर्द में जीने की हमें आदत कुछ ऐसी पड़ी,
कि अब दर्द ही अपना हमदर्द लगने लगा।

Dard Mein Jine Ki Hamen Aadat Kuchh Aisi Padi,
Ki Ab Dard Hi Apana Hamadard Lagane Laga.

भले किसी ग़ैर की जागीर थी वो,
पर मेरे ख्वाबों की तस्वीर थी वो,
मुझे मिलती तो कैसी मिलती…
किसी और के हिस्से की तकदीर थी वो ।

Bhale Kisi Gair Ki Jaagir Thi Woh,
Par Mere Khwaabon Ki Tasweer Thi Woh,
Mujhe Milati To Kaisi Milati…
Kisi Aur Ke Hisse Ki Takadir Thi Woh!

दर्द से हाथ न मिलाते तो और क्या करते,
गम के आँसू न बहाते तो और क्या करते,
उसने माँगी थी हमसे रौशनी की दुआ,
हम अपना घर न जलाते तो और क्या करते।

Dard Se Haath Na Milaate To Aur Kya Karate,
Gam Ke Aansu Na Bahate To Aur Kya Karate,
Usane Maangi Thi Hamase Raushani Ki Dua,
Ham Apana Ghar Na Jalaate To Aur Kya Karate.

कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे,
हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे,
वो तरस जायेंगे प्यार की एक बूँद के लिए,
हम तो बादल है प्यार के
कहीं और बरस जायेंगे…।

Kaun Kahata Hai Ham Usake Bina Mar Jayenge,
Hum To Dariya Hai Samandar Mein Utar Jayenge,
Woh Taras Jayenge Pyaar Kee Ek Bund Ke Lie,
Hum To Baadal Hai Pyaar Ke
Kahin Aur Baras Jaayenge….!

दिल के तड़पने का कुछ तो सबब है आख़िर
या दर्द ने करवट ली है या तुमने इधर देखा है।

Dil Ke Tadapane Ka Kuchh To Sabab Hai Aakhir
Ya Dard Ne Karavat Lee Hai Ya Tumane Idhar Dekha Hai.

आप बेवफा होंगे सोचा ही नहीं था,
आप भी कभी खफा होंगे सोचा नहीं था,
जो गीत लिखे थे कभी प्यार पर तेरे,
वही गीत रुसवा होंगे सोचा ही नहीं था।

Aap Bewafa Honge Socha Hi Nahin Tha,
Aap Bhi Kabhi Kafa Honge Socha Nahin Tha,
Jo Geet Likhe The Kabhi Pyaar Par Tere,
Wahi Geet Rusava Honge Socha Hi Nahin Tha.

यूँ तो हमेशा के लिए यहाँ आता नहीं कोई,
पर आप जिस तरह से गए वैसे जाता नहीं कोई।

Yun To Hamesha Ke Liye Yahaan Aata Nahin Koi,
Par Aap Jis Tarah Se Gae Vaise Jaata Nahin Koi.

टूटा दिल तो गम कैसा,
वो चल दिये तो सितम कैसा,
मन भरा यार बदले,
बेवफा हुए साफ,
तो फिर इश्क का भ्रम कैसा ।

Tuta Dil To Gam Kaisa,
Woh Chal Diye To Sitam Kaisa,
Man Bhara Yaar Badale,
Bewafa Huye Saaf,
To Phir Ishk Ka Bhram Kaisa!

अपनी तो जिंदगी की अजब कहानी है,
जिसे हमने चाहा वही हमसे बेगानी है,
हँसता हूँ दोस्तों को हँसाने के लिए,
वरना इन आँखों में पानी ही पानी है।

Apani To Zindagi Ki Ajab Kahani Hai,
Jise Hamane Chaaha Wahi Hamase Begaani Hai,
Hansata Hoon Doston Ko Hansane Ke Liye,
Warana In Aankhon Mein Pani Hee Paani Hai.

दर्द की दीवार पर अपनी फरियाद लिखा करते है,
ऐ खुदा उन्हें खुश रखना जिन्हें हम प्यार किया करते हैं।

Dard Ki Divaar Par Apani Fariyad Likha Karate Hai,
Aye Khuda Unhen Khush Rakhana Jinhen Ham Pyaar Kiya Karate Hain.

आ गई फिर वही एक और
अशिक की बरबादी की तारीख।
यही दिन था वह जब दिल टूटा
और मोहब्बत क़त्ल सरेआम हुई थी।

Aa Gaye Phir Wahi Ek Aur
Ashiq Ki Barabadi Ki Tarikh.
Yahee Din Tha Vah Jab Dil Toota
Aur Mohabbat Qatal Sar-e-aam Huyi Thi.

धीरे धीरे से अब तेरे प्यार का दर्द कम हुआ,
ना तेरे आने के खुशी ना तेरे जाने का गम हुआ,
जब लोग मुझसे पूछते हैं हमारे प्यार की दास्तान,
कह देता हूँ एक फसाना था जो अब खत्म हुआ।

Dhire Dhire Se Ab Tere Pyaar Ka Dard Kam Hua,
Na Tere Aane Ke Khushi Na Tere Jaane Ka Gam Hua,
Jab Log Mujhase Puchate Hain Hamare Pyaar Ki Daastaan,
Kah Deta Hoon Ek Fasana Tha Jo Ab Khatm Hua.

Dard Bhari Shayari In Hindi

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी।

Kabhi Gam To Kabhi Tanhai Maar Gayi,
Kabhi Yaad Aa Kar Unaki Judai Maar Gayi,
Bahut Toot Kar Chaaha Jisako Hamane,
Aakhir Mein Unakee Hee Bevaphaee Maar Gayi.

बिखरे अरमान, भीगी पलकें और ये तन्हाई,
कहूँ कैसे कि मिला मोहब्बत में कुछ भी नहीं।

Bikhare Aramaan, Bhigi Palaken Aur Ye Tanhai,
Kahun Kaise Ki Mila Mohabbat Mein Kuchh Bhi Nahi!

तेरी बेवफाई का सौ बार शुक्रिया,
मेरी जान छूटी…इश्क़-ऐ-बवाल से.

Teri Bewafai Ka Sau Baar Shukriya,
Meri Jaan Chhooti…!
Ishq-E-Bavaal Se.

इश्क़ के खुमार में उसे अपनी जिंदगी बना लिया,
जब भी उसकी याद आई दिल थामकर रो लिया,
वफ़ा का नाम देकर उसने बेबफाई की तो क्या हुआ,
जिंदगी थी वो मेरी उसके दिए सारे ग़म बर्दाश्त कर लिया।

Ishq Ke Khumaar Mein Use Apani Zindagi Bana Liya,
Jab Bhi Usaki Yaad Aai Dil Thamakar Ro Liya,
Wafa Ka Naam Dekar Usane Bewafai Ki To Kya Hua,
Zindagi Thi Vo Meri Usake Die Saare Gam Bardaasht Kar Liya.

हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया,
औरों को तो ठीक पर हम को भी तबाह किया,
अर्ज़ किया जब ग़ज़लों मे उनकी बेवफ़ाई को तो,
औरों ने तो ठीक उन्होने भी वा वा किया

Hasino Ne Hasin Banakar Gunah Kiya,
Auron Ko To Thik Par Ham Ko Bhi Tabaah Kiya,
Arz Kiya Jab Gazalon Me Unaki Bewafai Ko To,
Auron Ne To Thik Unhone Bhee Wah Wah Kiya

बदले तो नहीं हैं वो… दिल-ओ-जान के करीने,
आँखों की जलन, दिल की चुभन अब भी वही है।

Badale To Nahin Hain Woh… Dil-O-Jaan Ke Karine,
Aankhon Ki Jalan, Dil Ki Chubhan Ab Bhi Wahi Hai.

टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी,
मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी,
न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से,
कि मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी।

Toote Hue Dil Ne Bhee Usake Lie Dua Maangi,
Meri Saanson Ne Har Pal Uski Khushi Maangi,
Na Jaane Kaisi Dillagee Thi Us Bewafa Se,
Ki Mainne Aakhiri Khwahish Mein Bhi Usaki Wafa Maangi.

कैसे यकीन करें हम तेरी मोहब्बत का,
जब बिकती है बेवफाई तेरे ही नाम से।

Kaise Yakin Karen Ham Teree Mohabbat Ka,
Jab Bikati Hai Bewafai Tere Hee Naam Se.

मुझसे मेरी वफ़ा का सबूत मांग रहा है !
खुद बेवफ़ा हो के मुझसे वफ़ा मांग रहा है !!

Mujhase Meri Wafa Ka Sabut Maang Raha Hai !
Khud Bewafa Ho Ke Mujs Wafa Maang Raha Hai !!

जो हुकुम करता है, वो इल्तज़ा भी करता है,
आसमान कही झुका भी करता है,
और तू बेवफा है तो ये खबर भी सुन ले,
इन्तेज़ार मेरा कोई वहा भी करता है.

Jo Hukum Karata Hai, Woh Iltaza Bhi Karata Hai,
Aasamaan Kahi Jhuka Bhi Karata Hai,
Aur Too Bewafa Hai To Ye Khabar Bhi Sun Le,
Intezaar Mera Koi Waha Bhi Karata Hai.

हम तो जी रहे थे उनका नाम लेकर
वो गुज़रते थे हमारा सलाम लेकर
कल वो कह गये भुला दो हुमको
हमने पूछा कैसे…?
तो चले गये हाथो मे जाम देकरl

Ham To Ji Rahe The Unaka Naam Lekar
Woh Guzarate The Hamaara Salaam Lekar
Kal Woh Kah Gaye Bhula Do Humako
Hamane Puchha Kaise…?
To Chale Gaye Haatho Me Jaam Dekara

सिखा मुझसे ही मेरी मोहब्बत ने मोहब्बत करने का हुन्नर !
आज मेरी मोहब्बत गैरों से मोहब्बत रचा बैठी !!

Sikha Mujhse Hi Meri Mohabbat Ne Mohabbat Karane Ka Hunnar !
Aaj Meri Mohabbat Gairon Se Mohabbat Racha Baithi !!

कौन सी स्याही और
कौन सी कलम से लिखता
होगा…
जब वो किसी के नसीब
मे एक बेवफा लिखता
होगा।

Kaun Si Syaahi Aur
Kaun Si Kalam Se Likhata Hoga…
Jab Woh Kisi Ke Naseeb
Me Ek Bewafa Likhata Hoga!

क्या बताऊँ अपना हाल ए दिल मैं तुम्हें,
देखूं जिधर बस एक ही नूर नज़र आये,
अब बता भी दो दवा ए दर्द क्या है इसकी,
या फिर किसी जाल में फसाया है तुमने हमें।

Kya Bataoon Apana Haal E Dil Main Tumhen,
Dekhoon Jidhar Bas Ek Hee Noor Nazar Aaye,
Ab Bata Bhee Do Dava E Dard Kya Hai Isakee,
Ya Phir Kisee Jaal Mein Phasaaya Hai Tumane Hamein.

तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी !
वरना हमको कहां तुम से शिकायत होगी !
ये तो बेवफ़ा लोगों की दुनिया है !
तुम अगर भूल भी जाओ जो रिवायत होगी !!

Tum Agar Yaad Rakhoge To Inaayat Hogi !
Warana Hamako Kahaan Tum Se Shikaayat Hogi !
Ye To Bewafa Logon Ki Duniya Hai !
Tum Agar Bhool Bhee Jao Jo Rivaayat Hogi !!

ज़िक्र उस का ही सही बज़्म में बैठे हो फ़राज़,
दर्द कैसा भी उठे हाथ न दिल पर रखना।

Zikr Us Ka Hi Sahi Bazm Mein Baithe Ho Faraaz,
Dard Kaisa Bhee Uthe Haath Na Dil Par Rakhana.

आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हो गए,
महसूस हुआ तब जब वो जुदा हो गए,
करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो हमें,
पर बहुत कुछ दे गए जब बेवफ़ा हो गए ।

Aag Dil Mein Lagi Jab Woh Khafa Ho Gaye,
Mahasoos Hua Tab Jab Woh Juda Ho Gaye,
Karake Wafa Kuch De Na Sake Woh Hamein,
Par Bahut Kuch De Gaye Jab Bewafa Ho Gaye.

आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए !
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए !
करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो !
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए !!

Aag Dil Mein Lagi Jab Woh Khafa Huyi!
Mahasoos Hua Tab, Jab Vo Juda Huyi!
Karake Wafa Kuch De Na Sake Woh!
Par Bahut Kuch De Gaye Jab Woh Bewafa Huyi!!

दुनिया बहुत मतलबी है,
दुनिया बहुत मतलबी है,
साथ कोई क्यों देगा,
मुफ्त का यहाँ कफ़न नहीं मिलता,
तो बिना गम के प्यार कौन देगा।

Duniya Bahut Matalabi Hai,
Duniya Bahut Matalabi Hai,
Saath Koee Kyon Dega,
Muft Ka Yahaan Kafan Nahin Milata,
To Bina Gam Ke Pyaar Kaun Dega.

रात की गहराई आँखों में उतर आई,
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,
ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,
कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई।

Raat Ki Gaharai Aankhon Mein Utar Aai,
Kuchh Khwaab The Aur Kuch Meri Tanhai,
Yeh Jo Palakon Se Bah Rahe Hain Halke Halke,
Kuchh To Majabooree Thee Kuchh Teree Bewafai.

सुबकती रही रात अकेली तनहाइयों के आगोश़ में,
और वो काफिऱ दिन से मोहब्बत कर के उसका हो गया।

Subakati Rahi Raat Akeli Tanahaiyon Ke Aagosh Mein,
Aur Woh Kafir Din Se Mohabbat Kar Ke Usaka Ho Gaya.

ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक है,
तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक है
वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक है।

Na Poch Mere Sabr Ki Inteha Kahaan Tak Hai,
Tu Sitam Kar Le, Teree Hasarat Jahaan Tak Hai
Wafa Ki Ummeed, Jinhen Hogi Unhen Hogi,
Hamein To Dekhana Hai, Too Bewafa Kahaan Tak Hai.

इंसान के कंधों पर इंसान जा रहा था,
कफ़न में लिपटा अरमान जा रहा था,
जिसे भी मिली बे-वफ़ाई मोहब्बत में,
वफ़ा की तलाश में श्मशान जा रहा था।

Insaan Ke Kandhon Par Insaan Ja Raha Tha,
Kafan Mein Lipata Aramaan Ja Raha Tha,
Jise Bhee Milee Be-vafaee Mohabbat Mein,
Wafa Ki Talaash Mein Shmashaan Ja Raha Tha.

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है !
खामोशियो की आदत हो गयी है !
न सीकवा रहा न शिकायत किसी से अगर है तो !
एक मोहब्बत जो इन तन्हाइयों से हो गई है !!

Intazaar Kee Aarazoo Ab Kho Gayi Hai!
Khaamoshiyo Ki Aadat Ho Gayi Hai !
Na Seekawa Raha Na Shikaayat Kisi Se Agar Hai To!
Ek Mohabbat Jo In Tanhaiyon Se Ho Gayi Hai !!

वफ़ा के नाम से मेरे सनम अनजान थे,
किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,
हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला…
हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे।

Wafa Ke Naam Se Mere Sanam Anajaan The,
Kisi Ki Bewafai Se Shaayad Pareshaan The,
Hamane Wafa Deni Chahi To Pata Chala…
Ham Khud Bewafa Ke Naam Se Badanaam The.

रोज़ ढलता हुआ सूरज ये कहता है मुझसे आज उसे बेवफा हुए एक दिन और हुआ !

Roz Dhalata Hua Sooraj Ye Kahata Hai Mujhse Aaj Use Bewafa Huyi Ek Din Aur Hua !

इलाजे-दर्दे-दिल तुमसे मसीहा हो नहीं सकता,
तुम अच्छा कर नहीं सकते मैं अच्छा हो नहीं सकता।

Ilaaje-Darde-Dil Tumse Masiha Ho Nahin Sakata,
Tum Achcha Kar Nahin Sakate Main Achcha Ho Nahin Sakata.

कैसी अजीब तुझसे यह जुदाई थी,
कि तुझे अलविदा भी ना कह सका,
तेरी सादगी में इतना फरेब था,
कि तुझे बेवफा भी ना कह सका।

Kaisi Ajib Tujhase Yah Judai Thi,
Ki Tujhe Alavida Bhi Na Kah Saka,
Teri Sadagi Mein Itana Fareb Tha,
Ki Tujhe Bewafa Bhi Na Kah Saka.

बिछड़ के तुम से ज़िंदगी सज़ा लगती है,
यह साँस भी जैसे मुझ से ख़फ़ा लगती है,
तड़प उठता हूँ दर्द के मारे,
ज़ख्मों को जब तेरे शहर की हवा लगती है,
अगर उम्मीद-ए-वफ़ा करूँ तो किस से करूँ,
मुझ को तो मेरी ज़िंदगी भी बेवफ़ा लगती है।

Bichhad Ke Tum Se Zindagi Saza Lagati Hai,
Yeh Saans Bhi Jaise Mujh Se Khafa Lagati Hai,
Tadap Uthata Hoon Dard Ke Maare,
Zakhmon Ko Jab Tere Shahar Kee Hava Lagati Hai,
Agar Ummid-E-Wafa Karoon To Kis Se Karoon,
Mujh Ko To Meri Zindagi Bhi Bewafa Lagati Hai.

मिल जायेगा हमें भी कोई टूट कर चाहने वाला!
अब शहर का शहर तो बेवफा नहीं हो सकता !!

Mil Jaayega Hamein Bhi Koi Toot Kar Chahane Wala!
Ab Shahar Ka Shahar To Bewafa Nahin Ho Sakata !!

तेरी चौखट से सिर उठाऊं तो बेवफा कहना,
तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना,
मेरी वफाओं पे शक है तो खंजर उठा लेना,
मैं शौक से मर ना जाऊं तो बेवफा कहना।

Teri Chaukhat Se Sir Uthaoon To Bewafa Kahana,
Tere Siva Kisi Aur Ko Chaahoon To Bewafa Kahana,
Meri Wafao Pe Shak Hai To Khanjar Utha Lena,
Main Shauk Se Mar Na Jaoon To Bewafa Kahana.

पहले इश्क फिर धोखा फिर बेवफ़ाई,
बड़ी तरकीब से एक शख्स ने तबाह किया ।

Phele Ishq Phir Dhokha Phir Bewafai,
Badi Tarakib Se Ek Shakhs Ne Tabaah Kiya.

Being betrayed in love is the worst feeling which one can feel. We feel very sorry that you have been betrayed by your girlfriend or boyfriend but whatever happens for the good, what is happening is for the good and whatever will happen in future will be for the good. So, don’t feel sad it’s just a part of life. Just be happy and send bewafa shayari and bewafa WhatsApp Status to your lover and tell him or her how you feel about.

Thank you for being here. We hope you liked the above bewafa love shayari and bewafa WhatsApp Status. Please share with to your Facebook profile and forget about the past.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *