Sad Shayari: Sad Shayari in Hindi For Love – Sad WhatsApp Status

Looking for Sad Love Shayari and Sad WhatsApp Status? If yes, then we have unique and the latest collection of sad love Shayari and status in Hindi for you which you can send on Facebook, WhatsApp and Instagram like social media of your choice.

Sad Shayari And Sad WhatsApp Status in Hindi For Love

sad shayari quotes text status

Now, express your sadness by using Shayari and WhatsApp Status in Hindi and share with your girlfriend, boyfriend or with your family members and relatives to show them you are feeling low and sad and you need their help. Express your sadness and grief is not bad sometimes it’s a good thing to share your feeling because it will help you to overcome our bad mood. We have collected best collection of sad Shayari and Status specially for you so that you can feel better. Scroll down to read more about the same.

प्यास दिल की बुझाने वो कभी आया भी नहीं,
कैसा बादल है जिसका कोई साया भी नहीं,
बेरुखी इससे बड़ी और भला क्या होगी,
एक मुद्दत से हमें उसने सताया भी नहीं।

Pyas Dil Ki Bujhaane Vo Kabhi Aaya Bhi Nahin,
Kaisa Baadal Hai Jisaka Koi Saaya Bhi Nahi,
Berukhi Isase Badi Aur Bhala Kya Hogi,
Ek Muddat Se Hamein Usane Sataaya Bhi Nahi!

हमने भी कभी चाहा था एक ऐसे शख्स को,
जो था आइने से नाज़ुक मगर था संगदिल।

Hamane Bhi Kabhi Chaaha Tha Ek Aise Shakhs Ko,
Jo Tha Aaine Se Naazuk Magar Tha Sangadil.

दुनिया ने हम पे जब कोई इल्जाम रख दिया,
हमने मुकाबिल उसके तेरा नाम रख दिया,
इक ख़ास हद पे आ गई जब तेरी बेरुखी,
नाम उसका हमने गर्दिशे-अय्याम रख दिया।

Duniya Ne Ham Pe Jab Koi Ilzam Rakh Diya,
Humane Mukabil Usake Tera Naam Rakh Diya,
Ek Khaas Had Pe Aa Gayi Jab Teri Berukhi,
Naam Usaka Humane Gardish-e-ayyaam Rakh Diya.

गजब का प्यार था… उसकी उदास आँखो में,
महसूस तक ना होने दिया कि वो छोड़ने वाला है।

Gajab Ka Pyaar Tha… Usaki Udaas Aankho Mein,
Mahasoos Tak Na Hone Diya Ki Woh Chhodane Wala Hai.

बहुत चाहा उसको जिसे हम पा न सके,
ख्यालों में किसी और को हम ला न सके,
उसको देखकर आँसू तो पोंछ लिए,
लेकिन किसी और को देखकर हम मुस्कुरा न सके।

Bahut Chaaha Usako Jise Hum Pa Na Sake,
Khyalo Mein Kisi Aur Ko Ham La Na Sake,
Usako Dekhakar Aansu To Ponchh Liye,
Lekin Kisi Aur Ko Dekhakar Ham Muskura Na Sake.

तेरी ये रेशमी ज़ुल्फ़ें हैं एक जंजीर के टुकड़े,
मेरी नस-नस में बसे है तेरी तस्वीर के टुकड़े,
अगर यकीन ना आये तो दिल चीर के दिखा दूँ,
मेरे दिल से भी निकलेंगे तेरी तस्वीर के टुकड़े।

Teri Ye Reshami Zulfen Hain Ek Zanjir Ke Tukade,
Meri Nas-Nas Mein Base Hai Teri Tasvir Ke Tukade,
Agar Yakin Na Aaye To Dil Chir Ke Dikha Doon,
Mere Dil Se Bhi Nikalenge Teri Tasvir Ke Tukade.

मुझसे नजरें तो मिलाओ कि हजारों चेहरे,
मेरी आँखों में सुलगते हैं सवालों की तरह,
जुस्तजू ने किसी मंजिल पे ठहरने न दिया,
हम भटकते रहे आवारा ख्यालों की तरह।

Mujhse Najaren To Milao Ki Hajaro Chehare,
Meri Aankhon Mein Sulagate Hain Sawalo Ki Tarah,
Justazoo Ne Kisi Manzil Pe Thaharane Na Diya,
Hum Bhatakate Rahe Awara Khyaalon Ki Tarah.

चलो अच्छा हुआ काम आ गयी दीवानगी अपनी,
वरना हम ज़माने भर को समझाने कहाँ जाते।

Chalo Acha Hua Kaam Aa Gayi Divaanagi Apani,
Warana Ham Zamane Bhar Ko Samajhane Kahaa Jaate.

मुझे वो छोड़ गया ये कमाल है उस का,
इरादा मैंने किया था कि छोड़ दूँगा उसे।

Mujhe Woh Chod Gaya Ye Kamaal Hai Us Ka,
Iraada Mainne Kiya Tha Ki Chod Dunga Use.

जिंदगी जैसी एक हसीं शै को,
चंद ख्वाबों ने कर दिया बरबाद,
कुछ हसीनों ने कर दिया घायल,
कुछ शराबों ने कर दिया बरबाद।

Zindagi Jaisi Ek Hasin Shai Ko,
Chand Khwabo Ne Kar Diya Barabaad,
Kuch Hasino Ne Kar Diya Ghaayal,
Kuchh Sharaabon Ne Kar Diya Barabaad.

जरा-सा झूठ ही लिख दो
कि तुम बिन दिल नहीं लगता,
हमारा दिल बहल जाए
तो तुम फिर से मुकर जाना।

Zara-sa Jhuth Hi Likh Do
Ki Tum Bin Dil Nahi Lagata,
Hamara Dil Bahal Jaye
To Tum Phir Se Mukar Jaana.

तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी,
वरना हमको कहाँ तुम से शिकायत होगी,
ये तो बेवफा लोगों की दुनिया है,
तुम अगर भूल भी जाओ तो रिवायत होगी।

Tum Agar Yaad Rakhoge To Inaayat Hogi,
Warana Hamako Kaha Tum Se Shikaayat Hogi,
Yeh To Bewafa Logon Ki Duniya Hai,
Tum Agar Bhool Bhi Jao To Rivaayat Hogi.

मालूम था कि मेरी साँसे मेरी ना थीं कभी,
बस इक शौक था उसके साथ जीने का।

Malum Tha Ki Meri Sanse Meri Na Thi Kabhi,
Bas Ek Shauk Tha Usake Saath Jine Ka.

तेरी आँखों में सच्चाई की एक राह दिखाई देती है,
तू है मोहब्बत का दीवाना ऐसी चाह दिखाई देती है,
माना कि ठोकर खाई है जमाने में बेवफाओं से,
पर तू आशिक है तुझमें मोहब्बत की चाह दिखाई देती है।

Teri Aankhon Mein Sachai Ki Ek Raah Dikhayi Deti Hai,
Tu Hai Mohabbat Ka Diwana Aisi Chah Dikhai Deti Hai,
Mana Ki Thokar Khai Hai Jamaane Mein Bewafa Se,
Par Too Aashik Hai Tujhamen Mohabbat Ki Chaah Dikhai Deti Hai.

इस मोहब्बत की किताब के,
बस दो ही सबक याद हुए,
कुछ तुम जैसे आबाद हुए,
कुछ हम जैसे बरबाद हुए।

Is Mohabbat Ki Kitaab Ke,
Bas Do Hi Sabak Yaad Huye,
Kuch Tum Jaise Aabaad Huye,
Kuch Ham Jaise Barabaad Huye.

मेरी यादें, मेरा चेहरा, मेरी बातें रुलायेंगी,
हिज़्र के दौर में, गुज़री मुलाकातें रुलायेंगी,
दिन तो चलो तुम काट भी लोगे फसानों में,
जहाँ तन्हा रहोगे तुम, तुम्हें रातें रुलायेंगी।

Meri Yaaden, Mera Chehara, Meri Baaten Rulayengi,
Hizr Ke Daur Mein, Guzari Mulaakate Rulayengi,
Din To Chalo Tum Kaat Bhi Loge Phasaanon Mein,
Jahaan Tanha Rahoge Tum, Tumhein Raaten Rulayengi.

वो मेरा हमसफर भी था वो मेरा राहगुजर भी था,
मंजिलें ही एक न थीं, दरमियाँ ये फासला भी था।

Woh Mera Humsafar Bhi Tha Woh Mera Raahagujar Bhi Tha,
Manjilein Hi Ek Na Thi, Daramiyaan Ye Fasala Bhi Tha.

किसी का यूँ तो हुआ कौन उम्र भर फिर भी,
ये हुस्न ओ इश्क़ तो धोखा है सब मगर फिर भी।

Kisi Ka Yoon To Hua Kaun Umar Bhar Phir Bhi,
Yeh Husan-O-Ishq To Dhokha Hai Sab Magar Phir Bhi.

रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हमने,
कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,
हमें मालूम है क्या चीज़ है मोहब्बत यारो,
घर अपना जला कर किये हैं उजाले हमने।

Raste Khud Hi Tabaahi Ke Nikaale Humane,
Kar Diya Dil Kisi Patthar Ke Hawale Humane,
Humein Maalum Hai Kya Chiz Hai Mohabbat Yaro,
Ghar Apana Jala Kar Kiye Hain Ujale Humane.

ऐसा तल्ख़ जवाबे-वफ़ा पहली ही दफा मिला,
हम इस के बाद फिर कोई अरमां न कर सके।

Aisa Talkh Jawab-E-Wafa Phelali Hi Dafa Mila,
Hum Is Ke Baad Phir Koi Araman Na Kar Sake.

इतना तो ज़िंदगी में, न किसी की खलल पड़े,
हँसने से हो सुकून, न रोने से कल पड़े,
मुद्दत के बाद उसने, जो की लुत्फ़ की निगाह,
जी खुश तो हो गया, मगर आँसू निकल पड़े।

Itana To Zindagi Mein, Na Kisi Ki Khalal Pade,
Hansane Se Ho Sukun, Na Rone Se Kal Pade,
Muddat Ke Baad Usane, Jo Ki Lutf Ki Nigaah,
Ji Khush To Ho Gaya, Magar Aansoo Nikal Pade.

बहुत लहरों को पकड़ा डूबने वाले के हाथों ने,
यही बस एक दरिया का नजारा याद रहता है,
मैं किस तेजी से जिन्दा हूँ मैं ये तो भूल जाता हूँ,
नहीं आना है दुनिया में दोबारा याद रहता है।

Bahut Laharon Ko Pakada Dubane Wale Ke Haathon Ne,
Yahi Bas Ek Dariya Ka Najaara Yaad Rahata Hai,
Main Kis Teji Se Jinda Hoon Main Ye To Bhool Jaata Hoon,
Nahin Aana Hai Duniya Mein Dobaara Yaad Rahata Hai.

देखी है बेरुखी की… आज हम ने इन्तेहाँ,
हमपे नजर पड़ी तो वो महफ़िल से उठ गए।

Dekhi Hai Berukhi Ki… Aaj Ham Ne Intehaan,
Humpe Najar Padi To Woh Mahafil Se Uth Gaye.

हमें अपने घर से चले हुए,
सरे राह उमर गुजर गई,
न कोई जुस्तजू का सिला मिला,
न सफर का हक ही अदा हुआ।

Humein Apane Ghar Se Chale Huye,
Sare Raah Umar Gujar Gayi,
Na Koi Justajoo Ka Sila Mila,
Na Safar Ka Hak Hi Ada Hua.

छोंड़ गए हमको वो अकेले ही राहों में,
चल दिए रहने वो गैर की पनाहों में,
शायद मेरी चाहत उन्हें रास नहीं आयी,
तभी तो सिमट गए वो औरों की बाँहों में।

Chod Gaye Humako Woh Akele Hi Raahon Mein,
Chal Diye Rahane Who Gair Ki Panaho Mein,
Shayad Meri Chahat Unhen Raas Nahin Aayi,
Tabhi To Simat Gae Vo Auron Ki Banhon Mein.

जो आँसू दिल में गिरते हैं वो आँखों में नहीं रहते,
बहुत से हर्फ़ वो होते हैं जो लफ़्ज़ों में नहीं रहते,
किताबों में लिखे जाते हैं दुनिया भर के अफ़साने,
मगर जिन में हकीकत हो किताबों में नहीं रहते।

Jo Aansoo Dil Mein Girate Hain Woh Aankhon Mein Nahin Rahate,
Bahut Se Harf Woh Hote Hain Jo Lafzon Mein Nahin Rahate,
Kitabo Mein Likhe Jaate Hain Duniya Bhar Ke Afasane,
Magar Jin Mein Hakikat Ho Kitabon Mein Nahin Rahate.

किस्मत बुरी या मैं बुरा… ये फैसला न हो सका,
मैं हर किसी का हो गया कोई मेरा न हो सका।

Kismat Buri Ya Main Bura… Ye Faisala Na Ho Saka,
Main Har Kisi Ka Ho Gaya Koi Mera Na Ho Saka.

झूठे वादों पर थी अपनी जिंदगी,
अब तो वो भी आसरा जाता रहा।

Jhoothe Wadon Par Thi Apani Zindagi,
Ab To Woh Bhi Aasara Jaata Raha.


याद जब आती है तुम्हारी तो सिहर जाता हूँ मैं,
देख कर साया तुम्हारा अब तो डर जाता हूँ मैं,
अब न पाने की तमन्ना है न है खोने का डर,
जाने क्यूँ अपनी ही चाहत से मुकर जाता हूँ मैं ।

Yaad Jab Aati Hai Tumhaari To Sihar Jaata Hoon Main,
Dekh Kar Saaya Tumhara Ab To Dar Jaata Hoon Main,
Ab Na Paane Ki Tamanna Hai Na Hai Khone Ka Dar,
Jaane Kyun Apani Hi Chahat Se Mukar Jaata Hoon Main.

मैं उसके चेहरे को दिल से उतार देता हूँ,
मैं कभी कभी तो खुद को भी मार देता हूँ।

Main Usake Chehare Ko Dil Se Utaar Deta Hoon,
Main Kabhi Kabhi To Khud Ko Bhi Maar Deta Hoon.

अब भला छोड़ के घर क्या करते,
शाम के वक्त हम सफ़र क्या करते,
इश्क ने सारे सलीके बख्शे हमें,
हुस्न से कस्बेहुनर क्या करते।

Ab Bhala Chod Ke Ghar Kya Karate,
Sham Ke Waqt Hum Safar Kya Karate,
Ishq Ne Sare Salike Bakhshe Hamen,
Husn Se Kasbehunar Kya Karate.

खोया इतना कुछ कि फिर पाना न आया,
प्यार कर तो लिया पर जताना न आया,
आ गए तुम इस दिल में पहली ही नज़र में,
बस हमें आपके दिल में समाना ना आया।

Khoya Itana Kuch Ki Phir Paana Na Aaya,
Pyar Kar To Liya Par Jatana Na Aaya,
Aa Gae Tum Is Dil Mein Pehali Hi Nazar Mein,
Bus Hamein Apke Dil Mein Samana Na Aaya.

मोहब्बत खूबसूरत होगी किसी और दुनियाँ में,
इधर तो हम पर जो गुजरी है हम ही जानते हैं।

Mohabbat Khubasurat Hogi Kisi Aur Duniyaan Mein,
Idhar To Ham Par Jo Gujari Hai Ham Hi Jaanate Hain.

शायद ये वक़्त हमसे कोई चाल चल गया,
रिश्ता वफ़ा का और ही रंगों में ढल गया,
अश्क़ों की चाँदनी से थी बेहतर वो धूप ही,
चलो उसी मोड़ से शुरू करें फिर से जिंदगी।

Shaayad Ye Waqt Hamase Koi Chal Chal Gaya,
Rishta Wafa Ka Aur Hi Rangon Mein Dhal Gaya,
Ashqon Ki Chandani Se Thi Behatar Vo Dhup Hi,
Chalo Usi Mod Se Shuru Karein Phir Se Zindagi.

उनकी एक नज़र को हम तरसते रहेंगे,
ये आंसू हर पल यूँही बरसते रहेंगे,
कभी बीते थे कुछ पल उनके साथ,
बस यही सोच कर हम हँसते रहेंगे।

Unki Ek Nazar Ko Ham Tarasate Rahenge,
Yeh Aansoo Har Pal Yunhi Barasate Rahenge,
Kabhi Bite The Kuch Pal Unake Saath,
Bas Yahi Soch Kar Ham Hansate Rahenge.

वक़्त तो दो ही कठिन गुजरे है सारी उम्र में,
इक तेरे आने के पहले इक तेरे जाने के बाद।

Waqt To Do Hi Kathin Gujare Hai Saari Umar Mein,
Ek Tere Aane Ke Phele Ek Tere Jaane Ke Baad.

न हाथ थाम सके और न पकड़ सके दामन,
बहुत ही क़रीब से गुज़र कर बिछड़ गया कोई।

Na Haath Tham Sake Aur Na Pakad Sake Daman,
Bahut Hi Qarib Se Guzar Kar Bichhad Gaya Koi.

यूँ बदल जाते है मौसम हमें मालूम न था,
प्यार है प्यार का मातम हमें मालूम न था,
इस मोहब्बत में यहाँ किसका भला होना है,
हर मुलाक़ात की किस्मत में जुदा होना है।

Yun Badal Jaate Hai Mausam Hamein Malum Na Tha,
Pyar Hai Pyar Ka Matam Hamein Malum Na Tha,
Is Mohabbat Mein Yahan Kisaka Bhala Hona Hai,
Har Mulaqat Ki Kismat Mein Juda Hona Hai.

वैसे ही दिन वैसी ही रातें हैं,
वही रोज का फ़साना लगता है,
अभी महीना भी नहीं गुजरा और
यह साल अभी से पुराना लगता है।

Wese Hi Din Wese Hi Raaten Hain,
Wahi Roj Ka Fasaana Lagata Hai,
Abhi Mahina Bhi Nahin Gujara Aur
Yeh Saal Abhi Se Puraana Lagata Hai.

गुमनामी का अँधेरा कुछ इस तरह छा गया है,
कि दास्ताँ बन के जीना भी हमें रास आ गया है।

Gumanami Ka Andhera Kuchh Is Tarah Chha Gaya Hai,
Ki Dastaan Ban Ke Jina Bhi Hamein Raas Aa Gaya Hai.

ले लो वापस वो आँसू वो तड़प वो यादें सारी,
नहीं कोई जुर्म हमारा तो फिर ये सजाएं कैसी।

Le Lo Wapas Woh Aansu Woh Tadap Woh Yaden Saari,
Nahin Koi Jurm Hamara To Fir Ye Sajaen Kesi.

कुछ इस तरह से गुज़ारी है ज़िंदगी जैसे,
तमाम उम्र किसी दूसरे के घर में रहा।

Kuch Is Tarah Se Guzaari Hai Zindagi Jaise,
Tamaam Umar Kisi Doosare Ke Ghar Mein Raha.

कुछ तबीयत ही मिली थी ऐसी,
चैन से जीने की सूरत नहीं हुई,
जिसको चाहा उसे अपना न सके,
जो मिला उससे मुहब्बत न हुई।

Kuch Tabiyat Hi Mili Thi Aisi,
Chain Se Jeene Ki Surat Nahin Huyi,
Jisako Chaaha Use Apana Na Sake,
Jo Mila Usase Muhabbat Na Huyi.

रूप से अक्सर प्यार नहीं होता,
मन चाहा सपना साकार नहीं होता,
हर किसी पर न मर मिटना मेरे दोस्त,
क्योंकि हर किसी के दिल में सच्चा प्यार नहीं होता।

Rup Se Aksar Pyaar Nahi Hota,
Man Chaha Sapana Sakaar Nahi Hota,
Har Kisi Par Na Mar Mitana Mere Dost,
Kyunki Har Kisi Ke Dil Mein Sacha Pyaar Nahin Hota.

हाथ मेरे भूल बैठे दस्तकें देने का फ़न,
बंद मुझ पर जब से उस के घर का दरवाज़ा हुआ।

Hath Mere Bhul Baithe Dastakein Dene Ka Fan,
Band Mujh Par Jab Se Us Ke Ghar Ka Darwaza Hua.

एक न एक दिन मैं ढूँढ ही लूंगा तुमको,
ठोंकरें ज़हर तो नहीं कि खा भी ना सकूँ।

Ek Na Ek Din Main Dhundh Hi Lunga Tumako,
Thonkarein Zaher To Nahin Ki Kha Bhi Na Sakoon.

बिना मेरे रह ही जाएगी कोई न कोई कमी,
तुम जिंदगी को जितनी मर्जी सँवार लेना।

Bina Mere Rah Hi Jaegi Koi Na Koi Kami,
Tum Zindagi Ko Jitani Marji Sanwar Lena.

थोड़ी मस्ती थोड़ा सा ईमान बचा पाया हूँ,
ये क्या कम है मैं अपनी पहचान बचा पाया हूँ,
कुछ उम्मीदें, कुछ सपने, कुछ महकी-महकी यादें,
जीने का मैं इतना ही सामान बचा पाया हूँ।

Thodi Masti Thoda Sa Imaan Bacha Paya Hoon,
Ye Kya Kam Hai Main Apani Phechan Bacha Paya Hoon,
Kuchh Ummiden, Kuchh Sapane, Kuchh Mahaki-Mahaki Yaaden,
Jine Ka Main Itana Hi Saamaan Bacha Paaya Hoon.

दिल में लगी थी वो प्यास जागी है,
आपसे मिलने की आस बाकी है
यूँ आदत न थी ऐसे तड़पने की ऐ खुदा
मेरी कितनी सजा और बाकी है।

Dil Mein Lagi Thi Vo Pyas Jagi Hai,
Apse Milane Ki Aas Baaki Hai
Yun Aadat Na Thi Aise Tadapane Ki Ai Khuda
Meri Kitani Saja Aur Baaki Hai.

तुम्हारे बगैर ये वक़्त, ये दिन और ये रात,
गुजर तो जाते हैं मगर, गुजारे नहीं जाते।

Tumhare Bagair Ye Waqt, Ye Din Aur Ye Raat,
Gujar To Jaate Hain Magar, Gujaare Nahi Jaate.

तरसते थे जो मिलने को हमसे कभी,
आज वो क्यों मेरे साए से कतराते हैं,
हम भी वही हैं दिल भी वही है,
न जाने क्यों लोग बदल जाते हैं।

Tarasate The Jo Milane Ko Hamase Kabhi,
Aaj Wo Kyon Mere Saye Se Katarate Hain,
Hum Bhi Wahi Hain Dil Bhi Wahi Hai,
Na Jane Kyun Log Badal Jaate Hain.

किसी के जख़्म तो किसी के ग़म का इलाज़,
लोगों ने बाँट रखा है मुझे दवा की तरह।

Kisi Ke Jakhm To Kisi Ke Gum Ka Ilaaz,
Logon Ne Baant Rakha Hai Mujhe Dawa Ki Tarah.

तू हवा के रुख पे चाहतों का
दिया जलाने की ज़िद न कर,
ये क़ातिलों का शहर है यहाँ तू
मुस्कुराने की ज़िद न कर।

Tu Hawa Ke Rukh Pe Chaahaton Ka
Diya Jalane Ki Zid Na Kar,
Ye Qatilon Ka Shahar Hai Yaha Tu
Muskuraane Ki Zid Na Kar.

शेर-ओ-शायरी तो दिल बहलाने का ज़रिया है जनाब,
लफ़्ज़ काग़ज़ पर उतारने से महबूब लौटा नहीं करते।

Sher-O-Shayari To Dil Bahalane Ka Zariya Hai Janab,
Lafz Kagaz Par Utarane Se Mahabub Lauta Nahi Karate.

अपनी रुसवाई तेरे नाम का चर्चा देखूं,
एक जरा शेर कहूँ और मैं क्या क्या देखूं।

Apani Rusawai Tere Naam Ka Charcha Dekhoon,
Ek Jara Sher Kahun Aur Main Kya Kya Dekhoon.

कितना आसाँ था तेरे हिज्र में मरना जाना
फिर भी इक उम्र लगी जान से जाते-जाते।

Kitana Aasan Tha Tere Hijr Mein Marana Jana
Phir Bhi Ik Umr Lagi Jaan Se Jate-Jate.

तुमको पाने की तमन्ना नहीं फिर भी खोने का डर है,
कितनी शिद्दत से देखो मैनें तुमसे मोहब्बत की है।

Tumako Pane Ki Tamana Nahi Phir Bhi Khone Ka Dar Hai,
Kitani Shiddat Se Dekho Mainen Tumase Mohabbat Ki Hai.

खुदा ने लिखा ही नहीं तुझको मेरी किस्मत में शायद,
वरना खोया तो बहुत कुछ था एक तुझे पाने के लिए।

Khuda Ne Likha Hi Nahi Tujhako Meri Kismat Mein Shaayad,
Warana Khoya To Bahut Kuch Tha Ek Tujhe Paane Ke Liye.

उल्फत में अक्सर ऐसा होता है,
आँखे हंसती हैं और दिल रोता है,
मानते हो तुम जिसे मंजिल अपनी,
हमसफर उनका कोई और होता है।

Ulfat Mein Aksar Aisa Hota Hai,
Aankhe Hansati Hain Aur Dil Rota Hai,
Manate Ho Tum Jise Manjil Apani,
Humsafar Unaka Koi Aur Hota Hai.

जीना चाहा तो जिंदगी से दूर थे हम,
मरना चाहा तो जीने को मजबूर थे हम,
सर झुका कर कबूल कर ली हर सजा,
बस कसूर इतना था कि बेकसूर थे हम।

Jina Chaaha To Zindagi Se Door The Hum,
Marana Chaaha To Jine Ko Majabur The Ham,
Sar Jhuka Kar Kabul Kar Li Har Saja,
Bas Kasoor Itana Tha Ki Bekasoor The Ham.

जब मिलो किसी से तो जरा दूर का रिश्ता रखना,
बहुत तङपाते हैँ अक्सर सीने से लगाने वाले।

Jab Milo Kisi Se To Jara Door Ka Rishta Rakhana,
Bahut Tanapate Hain Aksar Sine Se Lagaane Wale.

तेरी चाहत में रुसवा यूं सरे बाज़ार हो गये,
हमने ही दिल खोया और हम ही गुनाहगार हो गये।

Teri Chaahat Mein Rusawa Yoon Sare Baazaar Ho Gaye,
Hamane Hi Dil Khoya Aur Ham Hi Gunahagar Ho Gaye.

चुप हैं किसी सब्र से तो पत्थर न समझ हमें,
दिल पे असर हुआ है तेरी बात-बात का।

Chup Hain Kisi Sabr Se To Patthar Na Samajh Hamein,
Dil Pe Asar Hua Hai Teri Baat-Baat Ka.

तारीखों में कुछ ऐसे भी मंजर हमने देखे है,
कि लम्हों ने खता की थी, और सदियों ने सजा पाई।

Tarikhon Mein Kuch Aise Bhi Manjar Hamane Dekhe Hai,
Ki Lamhon Ne Khata Ki Thi, Aur Sadiyon Ne Saja Pai.

घायल कर के मुझे उसने पूछा,
करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे…?
लहू-लहू था दिल मगर
होंठों ने कहा
…बेइंतहा…बेइंतहा।

Ghayal Kar Ke Mujhe Usane Puchha,
Karoge Kya Phir Mohabbat Mujhase…?
Lahoo-lahoo Tha Dil Magar
Honthon Ne Kaha
…Veintaha…Beintaha.

तुम न आए तो क्या सहर न हुई,
हाँ मगर चैन से बसर न हुई,
मेरा नाला सुना ज़माने ने,
एक तुम हो जिसे ख़बर न हुई।

Tum Na Aae To Kya Sahar Na Huyi,
Han Magar Chain Se Basar Na Huyi,
Mera Nala Suna Zamane Ne,
Ek Tum Ho Jise Khabar Na Huyi.

बूए-गुल, नाला-ए-दिल, दूदे चिराग़े महफ़िल,
जो तेरी बज़्म से निकला सो परीशाँ निकला।
चन्द तसवीरें-बुताँ चन्द हसीनों के ख़ुतूत,
बाद मरने के मेरे घर से यह सामाँ निकला।

Boe-Gul, Naala-E-Dil, Doode Chiraage Mahafil,
Jo Teri Bazm Se Nikala So Parishaan Nikala.
Chand Tasaviren-butaan Chand Hasinon Ke Khutoot,
Baad Marane Ke Mere Ghar Se Yah Saamaan Nikala.

हासिल से हाथ धो बैठ ऐ आरज़ू-ख़िरामी,
दिल जोश-ए-गिर्या में है डूबी हुई असामी,
उस शम्अ की तरह से जिस को कोई बुझा दे,
मैं भी जले-हुओं में हूँ दाग़-ए-ना-तमामी।

Hasil Se Hath Dho Baith Ai Aarazoo-khirami,
Dil Josh-E-Girya Mein Hai Doobi Hui Asaami,
Us Sham Ki Tarah Se Jis Ko Koi Bujha De,
Main Bhi Jale-huon Mein Hoon Daag-E-Na-Tamaami.

तेरी जरूरत, तेरा इंतजार और ये तन्हा आलम,
थक कर मुस्कुरा देते हैं, हम जब रो नहीं पाते।

Teri Jarurat, Tera Intajaar Aur Ye Tanha Aalam,
Thak Kar Muskura Dete Hain, Ham Jab Ro Nahi Paate.

 

We hope you enjoyed reading this article. If you really like the above-shared collection of best sad Shayari in Hindi and best sad WhatsApp status then please share with your family friends and relatives and tell them to visit our website. It’s totally free for you even you can share Shayari and status on Facebook and twitter like social media sites too.

Thanks for being here! If you are sad and if you need any help please do comment below we will try to help you as much we can but never feel sad. your girlfriend, boyfriend, father, mother, husband, wife, son, daughter everyone is there to help you in this bad situation.

Have a nice day!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *